शनिवार, 16 मई 2020

बार-बार आदेशों की उल्लंघन करने वाले किसानों की मोटरों के बिजली कनेक्शन काटे जा सकते हैं: डिप्टी कमिश्नर घनश्याम थोरी

पुनीत शर्मा, संगरूर ब्यूरो, मिशन जयहिन्द: वातावरण को दूषित होने से बचाने के लिए किसानों को फसल के ठूंठ को नहीं जलाना चाहिए बल्कि खेतों में बचे हुए ठूंठ को फैलाकर मिट्टी की उर्वरा शक्ति बढ़ानी चाहिए। ये शब्द डिप्टी कमिश्नर घनश्याम थोरी ने जिला प्रशासनिक परिसर में अधिकारियों और कल्याण रक्षकों के साथ समीक्षा बैठक के दौरान कहे। उन्होंने कहा कि अगर कोई भी व्यक्ति फसल के ठूंठ जलाता है, तो उसे राष्ट्रीय हरित अधिकरण के निर्देश पर वातावरण को प्रदूषित करने के लिए जुर्माना लगाया जाएगा।  उन्होंने कहा कि किसानों के खिलाफ धारा 144 के उल्लंघन के लिए अब तक 90 FIR  दर्ज की गई हैं।

डिप्टी कमिश्नर ने कहा कि यदि किसानों द्वारा फसल ठूंठ को जलाने की बुरी प्रवृत्ति को नहीं रोका गया तो सिंचाई के लिए उन्हें प्रदान किए गए बिजली कनेक्शन भी काट दिए जा सकते हैं।

बैठक में उपस्थित अन्य लोगों में प्रमुख रूप से एसपी हरिंदर सिंह, अतिरिक्त डिप्टी कमिश्नर राजेश त्रिपाठी, एसडीएम बबनदीप सिंह वालिया, एसडीएम सुनाम मनजीत कौर, एसडीएम धूरी लतीफ अहमद, सहायक कमिश्नर अंकुर महिंद्रा सहित अन्य अधिकारी भी उपस्थित थे।