मंगलवार, 12 मई 2020

डंठल को जलाने के लिए किसानों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई

पुनीत शर्मा, संगरूर ब्यूरो, मिशन जयहिन्द: प्रशासन ने गेहूं की फसल की कटाई और पुआल बनाने के बाद छोड़े गए डंठल को जलाने के लिए किसानों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की है और जिले में अब तक 69 मामले दर्ज किए गए हैं।

आज यहां इसका खुलासा करते हुए  डिप्टी कमिश्नर श्री घनश्याम थोरी जी ने कहा कि गेहूं के ठूंठ जलाने को लेकर जिले में अब तक 69 पुलिस मामले दर्ज किए गए हैं।  उन्होंने जानकारी देते हुए कहा कि अहमदगढ़ में 2, अमरगढ़ 1, संदौड 2, धूरी 6, शेरपुर 1, संगरूर 14, भवानीगढ़ 2, सुनाम 3, लोंगोवाल 4, चीमा 6, दिड़बा 10, छाजली 4, धरमगढ़ 4  , लेहरा में 8, मूनक में 1-1 और खनौरी में 1।  डिप्टी कमिश्नर  जी ने कहा कि इनमें से 62 मामलों का पता लगाया गया है जबकि 7 मामले अप्राप्त हैं।  उन्होंने कहा कि इस संबंध में अब तक 138 लोगों को आरोपी बनाया गया है जबकि 12 लोगों को गिरफ्तार किया गया है।

श्री थोरी जी ने कहा कि डंठल को जलाने के मामलों की निगरानी टीमों द्वारा की जा रही है ताकि  डंठल को जलाया न जा सके।  डिप्टी  कमिश्नर जी ने किसानों से अपील की कि वे गेहूं की  डंठल में आग न लगाएं ताकि वातावरण को दूषित होने से बचाया जा सके।  और मिट्टी में पोषक तत्वों की कमी ना आ सके ।